ग्राम टुडे ख़ास

आयुष फार्मासिस्ट संघ ने औषधीय पौधे रोपे

लखनऊ संवाददाता

मोहनलालगंज लखनऊ विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर आयुष फार्मासिस्ट संघ ने औषधीय पौधारोपण कर अपनी मांगों के प्रति सरकार को संदेश दिया, कि जल, जंगल, जमीन, जानवर का संरक्षण कितना आवश्यक है इसके बगैर मानव जीवन अधूरा है। मोहनलालगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात आयुष फार्मासिस्ट संघ के प्रदेश महामंत्री देवेंद्र कुमार यादव ने कहा कि आयुष फार्मासिस्ट संघ के आवाहन पर पूरे प्रदेश के जनपदों के सी एच सी एवम् पी एच सी अस्पतालों पर वृक्षों का रोपण करने का संकल्प लिया, जिसमे कई किस्म के औषधीय पौधों जैसे तुलसी, गिलोय आदि अनेकों पौधो का रोपण करते हुए कहा कि सृष्टि के अंदर संतुलन लाना हम सबकी जिम्मेदारी है जल, जंगल ,जमीन ,जानवर आदि का संरक्षण करने का प्रत्येक मानव को संकल्प लेना चाहिए इसके बिना जीवन अधूरा है इसी कारण पर्यावरण का संतुलन बिगड़ता जा रहा है जिसके कारण तमाम अकाल आपदाएं देखने को भी मिल रही हैं लेकिन फिर भी मानव कुछ समझने को तैयार नहीं है कहीं पर वृक्षों की अंधाधुंध कटान तो कहीं भूमि खनन तमाम तरह से किया जा रहा है जिसके कारण मानव को आपदाओं का सामना करना पड़ रहा है जिसके शिकार मानव, पशु ,पक्षियों सभी पर असर पड़ता जा रहा है जंगली जानवरों का घरों की ओर पलायन मजबूरी बनता जा रहा है पक्षियों का कलरव शांत होता जा रहा हैं जबकि इस समय गावों से लेकर शहर तक बंदरो के कारण तमाम घटनाए देखी जा रही है वृक्षों की अंधाधुंध कटान से जंगल खत्म होने के कारण उनके भी जीवन पर प्रभाव पड़ रहा है जंगलों में जानवरों को खाने के लिए कुछ जब नहीं मिलता तो बंदरों की भी मजबूरी घरों की ओर पलायन कर रहे है जिस से मानव जीवन में त्राहि-त्राहि मची हुई है भूमि कुपोषित होती जा रही है भूमि पर अधिक उर्वरा शक्ति, रसायनिक खादों के कारण एवं प्लास्टिक के उपयोग से भी प्रदूषण बढ़ता जा रहा है जो विनाश का विशेष कारक है।इसी के साथ प्रदेश आयुष संघ महामंत्री देवेंद्र कुमार यादव ने कहा की प्रदेश सरकार आयुष फार्मासिस्ट संघ की मांगों के प्रति सचेत नहीं है आयुष संघ ने सरकार से प्रमुख रूप से मांग की है कि आयुष कर्मचारी जब सभी कर्मचारियों के समान कार्य कर रहे है तो दोनो में आखिर वेतन की विसंगतियां क्यों है समान वेतन देना निश्चित किया जाना आवश्यक है । सभी से अपील भी कि है कि अब से अब मानव को संकल्प लेना चाहिए कि हम अपने पुत्रों के समान वृक्षों की रक्षा कर पर्यावरण को शुद्ध बनाने का प्रयास करेंगे।

100% LikesVS
0% Dislikes

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!