ग्राम टुडे ख़ास

कोरोना मे होली

नीलम राकेश

है महीना
यह फाग का,
मिलने जुलने
के व्यवहार का ।

पर धुंध है
कोरोना की छाई,
दूर से मिलने की
होगी रसम अदाई ।

भिगोते थे
प्रेम के रंगों से,
अब इंटरनेट से
होगी रंगों की बौछार ।

गुजिया, पापड़, मिठाई
के सजते थे थाल ।
अब व्हाट्सएप से
प्रेषित होंगे मिष्ठान ।

गले मिल
लगाते थे गुलाल,
अब इमोजी से ही
चलाना पड़ेगा काम ।

आया है
होली का त्यौहार,
कर ना सकेगा
फीका इसे कोरोना ।

मन का मैल
चलो मिटा लें।
रूठे रिश्ते
इंटरनेट पर मना लें।

है यह
प्रेम का त्यौहार ,
घर बैठे बरसाओ
प्रेम की फुहार !!

आया होली का त्यौहार !!
आया होली का त्यौहार !!

नीलम राकेश
लखनऊ

100% LikesVS
0% Dislikes

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!