ग्राम टुडे ख़ास

गीत

रवींद्र कुमार शर्मा


दूरी छ: फुट की रही मास्क हटाया न गया

हमसे आया न गया तुमसे बुलाया न गया
कोरोना बीच में था दूर भगाया न गया
हमसे आया न गया

एक साल हो गया जो तुमसे मुलाकात हुई
दिन ढल गया कब जाने कब रात हुई
फासला बीच का हमसे यूँ मिटाया न गया
हमसे आया न गया

पास आने से भी अब मुझे डर लगता है
गले में खराश हो कोरोना ही अब लगता है
दूरी छै फुट की रही मास्क हटाया न गया
हमसे आया न गया

मर गए अपने भी हम पास कभी जा न सके
अपने परिजनों को कांधा तक हम दे न सके
कोरोना जुल्म तेरा हमसे भुलाया न गया
हमसे आया न गया

सेनेटाइजर हम कई बार लगाते ही रहे
अपने आप को लगातार बचाते ही रहे
हाथ पीछे ही रहे तुमसे मिलाया न गया
हमसे आया न गया

भीड़ में फैला बहुत अकेले में यह फिर भाग गया
ढील बरती जो लोगों ने तो यह फिर जाग गया
ऐसा जागा कि कभी फिर यह सुलाया न गया
हमसे आया न गया

न देखा छोटा न बड़ा देखा इसने
न औरत देखी न पुरुष देखा इसने
सामने जो भी गया कुछ को बचाया न गया
हमसे आया न गया

रवींद्र कुमार शर्मा
घुमारवीं
जिला बिलासपुर हि प्र

50% LikesVS
50% Dislikes

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!