ग्राम टुडे ख़ास

परोपकार

अर्पणा दुबे

एक गरीब आदमी था,उसके पास कुछ नहीं था
एक अमीर आदमी था,जो वह हमेशा देखता था गरीब आदमी को उसके घर में हमेशा लड़ाई होती थी
कभी कपड़े को लेकर कभी सब्जी को लेकर
छोटी -छोटी बात में लड़ाई होती थी
वह अमीर आदमी ये सब सुन सुन कर रहता था
एक दिन वह अपने पत्नी से बोला कि वो बगल वाले के यहां हर दिन कुछ न् कुछ् को लेकर लड़ाई होती है
उसकी पत्नी बोली हा जी हम भी सुनते हैं

क्यों न हम उसको अपने घर में काम दे देते हैं
हम लोगों के घर काम भी होगा और उसको
कुछ पैसों में मदद भी हो जायेगी

अमीर आदमी अपने पत्नी की बातों से खुश हुआ और
उसके घर जाकर बोला कि तुम अब ये रोज की किच् किच् से दूर् रहोगे चलो मेरे साथ तुम अब यहां काम करो
जो तुम्हें जरूरत हो हमें बता दो हम पूरा करेंगे

वो गरीब आदमी बहुत खुश हुआ और चल दिया काम करने,,,,,।।।।।।
जो समय में साथ दे उससे बडा कोई भगवान नहीं
जो समय में साथ छोड़ दे उससे बडा़ कोई दुश्मन नहीं।।।।

अर्पणा दुबे

अनूपपुर मध्यप्रदेश।

100% LikesVS
0% Dislikes

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!