ग्राम टुडे ख़ास

केवल आर्थिक संपन्न व्यक्ति कम विकसित हो पाते हैं अपेक्षाकृत चुनौतियों के बीच रहने वाले व्यक्ति से …


 अनुभव साझा किया  राकेश जाखेटिया दिल्ली से 

ऐसा ‘एक बिजनौर की शख्सियत’ कुंवर निहाल जी से मिलने के बाद लगा !
अति साधारण किसान परिवार में जन्मे कम शिक्षित होने के उपरांत भी उनके जीवन के अनुभव बहुत कुछ इस युवा पीढ़ी लिए प्रेरणा दायक हैं ! मुझे कुछ समय उनके साथ बिताने का सौभाग्य मिला !

             युवा काल  की पहली दहलीज उम्र 18 वर्ष  मां शाकुंभरी के दर्शन से प्रारम्भ होती हैं  ... फिर  क्या था  जीवन  बदलने  लगा या यूं कहें जीवन का आनंद आने लगा !

आज यह शख्सियत किसी परिचय की मोहताज नहीं ! उम्र है लगभग 80 वर्ष और कार्य शैली मे 45 वर्ष ! गति कहो या सोच कहो या परिणाम … यह तीनो ही सोच की त्रिमूर्ति है !
ईश्वर के आर्शिवाद से समय पर विवाह होना और कूद पडे एक कर्मयोगी की तरह ! क्या अहमदाबाद एमबीए काम करते ! रोटी – रोजी की तलाश में निकले सरकारी कॉटन मिल की मार्केटिंग टीम का हिसा बन बैठे ! कॉटन खरीदना, कॉटन बेचना, उसके स्पेयर पार्ट्स की व्यवस्था करना ! क्या मुंबई अहमदाबाद कानपुर बनारस कोलकाता धनबाद गोरखपुर पंजाब आदि अनेकों महानगर ! फिर क्या था हवाई यात्राएं एवं सुपरफास्ट राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन उनके जीवन का अंग बन गई ! इस जीवन का आनंद लगभग 5 वर्ष ही लिया फिर अपने कारोबार में कूद पड़े !

               कई बार अपने अनुभवों को साझा करते हुए अत्यधिक भावुक हुए यानी कुछ बताना चाहते हो ....परंतु रुक गए !  इस लंबे वार्तालाप के दौरान आपने इस सारी सफलता के पीछे स्वर्गीय रमेश चंद जैन   एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर टाइम्स ऑफ इंडिया  एवं श्रीमती त्रिशला जैन को  याद किया ! 

      आज आपकी सोच से लगभग 150 बीघा की आवासीय दुर्गा  कॉलोनी धामपुर इसमे  मंदिर, स्कूल , आदि  सारी सार्वजनिक सुविधा  उपलब्ध , नगीना मे   हीरो हांडा का शोरूम तथा आधुनिक खेती  से जिससे उनका  परिवार आज  आनंद  लें  रहा  हैं ! सांसद ,विधायक, सरकारी  कर्मचारी,  डॉक्टर , इंजीनियर ,शिक्षक , पुलिस महकमा,  उद्योगपति एवं व्यापारी आदि अनेकानेक  क्षेत्रों से व्यक्तियों के समुह 

.. निवास के रूप में आनंद ले रहे हैं । अब कुछ नया ऐसा ही प्रयास हरिद्वार रोड बिजनौर में किया जा रहा है !

              अपने भाई कॉमरेड स्व. रूपचंद जी की उपलब्धियों को बताते हुए भी भावुक हुए जिन्होंने  भारतीय  श्रमजीवी  पत्रकार  एवम  गैर पत्रकारो  के हितों के लिए  मालिकों एवं सरकार से   जीवन पर्यन्त सड़क से  संसद  तक संघर्ष किया तथा अधिकांश आंदोलनों में सफलता भी प्राप्त की ! 

धार्मिक , व्यावसायिक ,सामाजिक के साथ-साथ गैर राजनीतिक होते हुई भी पर्दे के पीछे राष्ट्रहित में राजनीतिक में भी खड़े रहे !

       आप के धामपुर निवास पर गणमान्य महानुभावों का आवागमन होता रहा  जिसमें प्रमुख रहे आदरणीय मोहन भागवत जी , माननीय राजनाथ जी , विनय कटियार जी, नरेंद्र मोदी जी के भाई प्रहलाद दास मोदी जी , श्री लालकृष्ण  आडवाणी जी आदि अनेकों गणमान्य महानुभाव! आपका आज भी अन्य राजनैतिक पार्टियों के वरिष्ठ सदस्यों के साथ भी आत्मीयता का संबंध है !

आज भी आप मोदी मिशन और भारत सरकार की नमामि गंगा योजना मे सक्रिय भुमिका निभा रहे है !

मंदिर निर्माण एवं धार्मिक भंडारों में उनकी संलिप्तता आज भी दिखाई देती है ! शायद उनके पास कोई दान या कन्यादान अथवा शिक्षा हेतु सहायता लेने आया हो और निराश होकर गया हो !

    अपनी जाति एवं समाज को राष्ट्रीय पहचान देने हेतु भारतीय स्तर पर रवा  राजपूत संगठन बनवाया ! शीघ्र ही उसमें  श्रमजीवी एवं बुद्धिजीवी  हजारो संख्या में जुड़ गए !  अत्यधिक राजनीतिक महत्वाकांक्षी व्यक्तियों के जुड़ने से उसमें आशातीत सफलता नहीं मिल पाई ! फिर भी  आज  तक  प्रयास रत हैं ........

ऐसी शख्सियत को नमन दिल से ! आप शतायु हो
ईश्वर आपको हों स्वस्थ एवं व्यस्त के रखे ! सादर सहित ।

100% LikesVS
0% Dislikes

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!