साहित्य

अगड़म बगड़म बोलो मत जी

डॉ रामशंकर चंचल

अगड़म बगड़म बोलो मत जी
अटरम सटरम खाओ मत जी
खुसर फुसर तुम कभी करो मत
टुकर टूकर ही देखो मत जी

बात बड़ो की सोलह आनी
अगर मगर से टालो मत जी
लिखा पुराना सच्चा सीधा
उलट पुलट कर डालो मत जी

बड़ बड़ करना बहुत बुरा है
गड़ बड़ करना बहुत बुरा है
बहुत बुरा है भडभड करना
लड़ लड़ करना बहुत बुरा है

चटक मटक कपड़े मत पहनो
सुन लो भाई सुन लो बहनों
झूठ न बोलो करो न हिंसा
प्यार करो सब नन्हें मुन्नो

तुम्हीं देश के सोना चांदी
राम कृष्ण और गोतम गांधी
तुन्ही देश के लिए फूल हो
दुश्मन के हित दूजर्य आंधी

डॉ रामशंकर चंचल
गोपाल कालोनी
झाबुआ मध्य प्रदेश

100% LikesVS
0% Dislikes

Shiveshwaar Pandey

शिवेश्वर दत्त पाण्डेय | संस्थापक: दि ग्राम टुडे प्रकाशन समूह | 33 वर्षों से पत्रकारिता में सक्रिय | समसामयिक व साहित्यिक विषयों में विशेज्ञता | प्रदेश एवं देश की विभिन्न सामाजिक, साहित्यिक एवं मीडिया संस्थाओं की ओर से गणेश शंकर विद्यार्थी, पत्रकारिता मार्तण्ड, साहित्य सारंग सम्मान, एवं अन्य 200+ विभिन्न संगठनों द्वारा सम्मानित |

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!