साहित्य

दीपावली आई-दीपावली आई

वीना आडवानी तन्वी

कामना से दिल से आई
दीपावली की दूं बधाई।
घर-घर फैले खुशहाली
खुशियों की खिले बाली।।

घर-घर दीप जले

खील, बताशे और मिठाई
पूजे लक्ष्मी हर एक भाई
मां की महिमा खूब गाई
लक्ष्मी प्रसन्न हो धरा पर आई।।

घर-घर दीप जले।।२।।

बरखा धन की करवाई
कोरोना को भी दूर भगाई
बाजारों में खूब रौनक छाई
प्रलय घड़ी को मार गिराई।।

घर-घर दीप जले।।२।।

रंग-बिरंगी रौशनी जगमगाई
आकाशदीप मन को हर्षाई
घरों में सज्जा सब द्वेष भुलाई
यही खुशी के पल गले लगों सब भाई।।

घर-घर दीप जले
दीपावली आई-दीपावली आई।।

वीना आडवानी तन्वी
नागपुर, महाराष्ट्र


मौलिक, स्वरचित, अप्रकाशित
🙏🏻😊

50% LikesVS
50% Dislikes

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!