साहित्य

साक्षात्कार साहित्यकार का

साक्षात्कार: वंश बहादुर सिंह

साक्षात्कारकर्ता: नवनीत चौधरी विदेह

1- अपना संक्षिप्त परिचय दीजिए ( जन्म,शिक्षा,व्यवसाय,रुचियाँ आदि )
उत्तर= वेद प्रकाश सिंह ‘प्रकाश’
पिता का नाम- श्री वंश बहादुर सिंह
जन्म- 30 नवम्बर 1964
शैक्षिक योग्यता- एम० ए० हिन्दी, संस्कृत, बीएड०
व्यवसाय- प्रधानाचार्य श्री जगदम्बा बख्श सिंह उ०मा० विद्यालय सरैय्या, तेजवापुर, बाराबंकी, उ०प्र०
पता- ग्रा०पो० ककरी, त्रिवेदीगंज, बाराबंकी 225126
फोन न०- 9695257521
2- आपने लिखना किस उम्र से आरंभ किया ? और किसकी प्रेरणा से किया ?
उत्तर= दस वर्ष की अवस्था से स्वप्रेरित

3- अपने साहित्यिक गुरु का नाम बताइये ?
उत्तर= कोई नही किन्तु जिससे भी मार्गदर्शन मिला उनको गुरुवत सम्मान दिया

4- किन-किन साहित्यिक विधाओं में लिखते हैं ?
उत्तर= काव्य की विविध विधाओं छंद, गीत, गजल, मुक्तक, आदि
2-गद्य, कहानी, लघुकथा, एकांकी एवं व्यंग विधा

5- पहली रचना कब और किस पत्रिका/अखबार में प्रकाशित हुई ?
उत्तर= मातृभूमि साप्ताहिक बाराबंकी 1980

6- अपने साहित्य से आप समाज को क्या कहना चाहते हैं ?
उत्तर= सामाजिक विसंगतियों को दूर करके स्वस्थ समाज की संरचना

7- अपनी प्रकाशित पुस्तकों के नाम बताएँ ?
उत्तर= 1-शहीदों की गरिमा(राष्ट्रीय चिंतन से ओत प्रोत गीत काव्य) 1982 में
2-माँ (प्रबंध काव्य) 2021 में

8- अपनी मौलिक कृतियों के नाम बताएँ ?
उत्तर= मुक्ताकाश, गीतांजलि, कालप्रवाह, समागम खंडकाव्य, पांचाली खंडकाव्य, अवधी के रंग(हास्य व्यंग्य कविताएं), टूटी पांखुरी(कहानी संग्रह), चिरकु कै बियाहु(एकांकी संग्रह)

9- क्या किसी पुस्तक का संपादन किया है ? नाम बताएँ
उत्तर= हाँ, सर्वोदिता त्रेमासिक 1988, स्वर्णपंक्षी मासिक 2014 से 3 वर्ष तक

10- भविष्य की साहित्यिक योजनाओं के विषय में अवगत कराएँ
उत्तर= सत साहित्य का संग्रह करके प्रकाशन व नवोदित साहित्यकारों के प्रोत्साहन के लिए मासिक संगोष्ठी का आयोजन

11- अपनी पसंदीदा पुस्तक का नाम बताएँ ?
उत्तर= माँ(प्रबंध काव्य),
रामचरितमानस(महाकाव्य)

12- आप किस साहित्यकार में अपना अक्स देखते हैं ? अथवा आप किस साहित्यकार से प्रभावित हैं ?
उत्तर= रामधारी सिंह ‘दिनकर’

13- आपको मिलने वाले सम्मानों के विषय में अवगत कराएँ ..
उत्तर= साहित्यालोक बिहार द्वारा ‘साहित्य भूषण’, साहित्य संस्थान संडवा चंद्रिका द्वारा ‘अवधी सम्राट’, इसके अलावा पत्रकार भूषण तथा दहेज दानव पत्रिका द्वारा लघुकथा कहानी तथा कविता में सम्मानित साथ ही साथ निबंध प्रतियोगिता मध्यप्रदेश द्वारा भी सम्मान
फेसबुक पर अवधी मधुरस लाइव कार्यक्रम में ‘मधुरस रसाल’ तथा गुँचे गीतों में “परिमल” प्रशस्ति पत्र

14- नये कलमकारों/साहित्यकारों को क्या संदेश देना चाहेंगे ?
उत्तर= देश समाज का अध्ययन करते हुए प्रेरित साहित्य का सृजन करे तथा इसके लिए कम लिखे अधिक पढ़ें

15-क्या कभी आकाशवाणी एवं दूरदर्शन पर प्रसारित होने का अवसर मिला है ?
उत्तर=हाँ, आकाशवाणी में 1997 में ‘रस गागरी’ में काव्य पाठ
दूरदर्शन में काव्य पाठ व स्वास्थ्य पत्रिका कल्याणी प्रतियोगिता में प्रदेश में दूसरा स्थान

16 – क्या कविसम्मेलनों का हिस्सा बने हैं ?
उत्तर= हाँ, 1980 से अद्यतन

17 – आपकी नजर में साहित्य क्या है ?
उत्तर = साहित्य समाज का दर्पण है इसलिए सत साहित्य एवं प्रेरक मनोभावों का सृजन परम् आवश्यक है

18 – फेसबुक के साहित्य को आप किस दृष्टि से देखते हैं ?
उत्तर= फेसबुक के माध्यम से प्रसार प्रचार के साथ-साथ सबसे जुड़ने का सुअवसर प्राप्त होता हैं

100% LikesVS
0% Dislikes

Shiveshwaar Pandey

शिवेश्वर दत्त पाण्डेय | संस्थापक: दि ग्राम टुडे प्रकाशन समूह | 33 वर्षों से पत्रकारिता में सक्रिय | समसामयिक व साहित्यिक विषयों में विशेज्ञता | प्रदेश एवं देश की विभिन्न सामाजिक, साहित्यिक एवं मीडिया संस्थाओं की ओर से गणेश शंकर विद्यार्थी, पत्रकारिता मार्तण्ड, साहित्य सारंग सम्मान, एवं अन्य 200+ विभिन्न संगठनों द्वारा सम्मानित |

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also
Close
Back to top button
error: Content is protected !!