उत्तरप्रदेश

दो युवकों की कंटेनर से कुचलने से दर्दनाक मौत

लखनऊ संवाददाता

मोहनलालगंज लखनऊ कोतवाली क्षेत्र अतरौली मार्ग पर कंटेनर ने दो युवकों को कुचल दिया जिससे क्षेत्र में दहशत के माहौल के साथ प्रशासन पर लोगों ने आरोप लगाया कि प्रशासन की लापरवाही का नतीजा है मौत बन कर दिनभर दौड़ रहे डंपरो पर लगाम नहीं लग पा रही है पुलिस प्रशासन मौन साधे है लगातार तीसरे दिन भी वाहन चालक ने दो युवकों की जान लेली ।मोहनलालगंज कोतवाली क्षेत्र अतरौली बकखा खेड़ा मार्ग पर बिन्दौवा निवासी दो युवक गांव से मोहनलालगंज जा रहे थे तभी आनंद उर्फ 18 वर्ष पुत्र रघुनंद तथा मनीष कुमार 20 वर्ष बुलेट मोटरसाइकिल यूपी 32 एलएच 6332 से जा रहे थे कि सामने से आ रहे तेज रफ्तार कंटेनर चालक ने उन्हें दिनदहाड़े अतरौली मार्ग पर कुचल दिया इस घटना की सूचना बिंदौवा निवासी मृतकों के घर पहुंची तो पूरे गांव में कोहराम मच गया सूचना पाकर मौके पर पहुंचे विधायक अंब्रीश सिंह पुष्कर ने परिजनों को ढाढस बंधाया और पुलिस से मदद करने करने को कहा वहीं पर गांव निवासी समाज सेवी मलखान गौतम सहित अनेकों ग्रामीण परिजनों को ढाढस बंधाते रहे छोटा भाई ,बहन ,मां सहित साथियों का रोरोकर बुरा हाल था । पुलिस शव को कब्जे में लेकर पीएम की कार्रवाई में जुटी थी।


कोतवाली क्षेत्र में लगातार तीसरे दिन की घटना से सभी स्तब्ध

मोहनलालगंज कोतवाली क्षेत्र में लगातार तीसरे दिन दर्दनाक तीसरी घटना से क्षेत्र में शासन प्रशासन के प्रति लोगों में आक्रोश व्याप्त है । कि सरकार सिर्फ घोषणाएं करती है अवैध खनन करने वालो पर रोक नहीं लगा पा रही है साथ ही परिवहन विभाग एवं पुलिस की सांठगांठ से डंपर मौत बनकर दिनभर दौड़ते रहते हैं। कोतवाली क्षेत्र में तीसरे दिन भी वाहन चालको की लापरवाही से तीसरी घटना ने दो नव युवकों की जान ले ली परिवहन निगम एवं पुलिस प्रशासन दो पहिया से चार पहिया वाहनों पर नंबर प्लेट को लेकर घोषणाएं तो कर दी है कि नई नंबर प्लेट स्पष्ट वाहनों पर लगवाए। वाहन चालकों को पुलिस द्वारा रोक कर नंबर प्लेट गड़बड़ी पर चालान कर दिए जाते हैं की गाड़ियों पर नंबर स्पष्ट नहीं दिखाई देती तो उन्हें सीज कर दिया जाता है जबकि कोतवाली मोहनलालगंज में निरुद्ध दो डंपर एवं अन्य वाहनों पर आगे पीछे देखा जाए तो नंबर प्लेट स्पष्ट नहीं है और दिन भर डंपर चालक कोतवाली के सामने से फर्राटे भरते निकल जाते है परंतु पुलिस को नजर नहीं आते जबकि दो पहिए चालको के रोज चालान होते है ।इससे परिवहन विभाग एवं पुलिस पर प्रश्नचिन्ह लगना लाजमी है आखिर शासन प्रशासन इस पर कब अंकुश लगाएगा।

86% LikesVS
14% Dislikes

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!