उत्तरप्रदेश

पूर्वांचल निवासियों की आशाओं के निमित्त पूर्वांचल प्रदेश का गठन आवश्यक :पवन कुमार सिंह एडवोकेट

सोनभद्र ! अलग पूर्वांचल राज्य की मांग कर रहे पूर्वांचल राज्य जनमोर्चा की एक बैठक अशोकनगर, रावटसगंज सोनभद्र में राष्ट्रीय सचिव पंकज यादव एडवोकेट की अध्यक्षता में आहूत की गई ! जिसमें अलग पूर्वांचल राज्य पर विचार किया गया ! संगठन प्रमुख पवन कुमार सिंह एडवोकेट ने कहा कि आजादी के वक्त देश की जनसंख्या 36.10 करोड़ थी आज देश की आबादी 135 करोड़ से भी अधिक है जिसमें अकेले उत्तर प्रदेश की जनसंख्या 23 करोड़ के लगभग है और उसमें पूर्वांचल की जनसंख्या करीब 9 करोड़ है लेकिन जिस अनुपात से जनसंख्या बढ़ी उस हिसाब से संसाधन, रोजगार, सामाजिक विकास, समान अवसर और शासन का विकेंद्रीकरण नहीं हुआ जो कि होना चाहिए था इसलिए पूर्वांचल निवासियों के आशाओं के निमित्त पूर्वांचल प्रदेश का गठन कर भौगोलिक, सामाजिक, सांस्कृतिक, आर्थिक व राजनीतिक संरक्षण प्रदान किया जाए ! प्रदेश सचिव संतोष चतुर्वेदी ने कहा कि प्रदेश के दस सबसे गरीब जनपदों में पूर्वांचल के नौ जनपद हैं इसलिए यहां की युवा बड़े शहरों के लिए रोजगार हेतु पलायन करने को मजबूर हैं ! संचालन प्रदेश प्रवक्ता काकू सिंह ने किया ! बैठक में ईश्वर जायसवाल, शिवप्रकाश चौबे नवीन पांडे, लक्ष्मीकांत शुक्ला, दीप नारायण पटेल, रामेश्वर पांडे, नेतराज पटेल, ललित चौबे, अविनाश यादव, राजकुमार सिंह, अशोक सिंह विकास त्रिपाठी, विरेंद्र कुमार सिंह, फूल सिंह आदि लोगों ने विचार रखा

100% LikesVS
0% Dislikes

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!